42 नींद के बारे में रोचक तथ्य | Surprising Facts about Sleep in Hindi

sleep facts in hindi

Scientific Sleep Facts in Hindi: पिछले कुछ लेखों में हमने लिवर, किडनीशराब से जुड़े रोचक तथ्य जाने थे। इस लेख में हम हमारे जीवन की सब से ज्यादा महत्वपूर्ण क्रिया नींद के बारे मे रोचक तथ्य जानेंगे। नींद हमारे जीवन का वह हिस्सा है, जिसके बिना हम अपने जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकते है और नींद ही वह क्रिया है, जिसमें इंसान अपना सबसे ज्यादा समय बीतता है।

इस लेख में हम नींद के कुछ अद्भुत, अनसुने तथ्य के बारे में आपको बताएंगे, जो अलग-अलग देश, जानवर, अवस्था और वैज्ञानिक दृष्टि से जुड़े है।

42 नींद के बारे में रोचक तथ्य | Surprising Facts of Sleep in Hindi

1. मनुष्य एकमात्र स्तनपाई (Mammal) है, जो अपनी इच्छा अनुसार नींद में देरी कर सकता है। बाकी अन्य जानवरों का नींद पर इतना काबू नहीं होता है।

2. कई बार देखा गया है, कि तलाकशुदा, विधवा, ब्रेक-अप और अलग हुए लोगों में नींद न आना बड़ी समस्या है।

3. सामान्य तौर पर एक स्वस्थ व्यक्ति को रात में कम से कम 7 से 9 घंटे की नींद की आवश्यकता होती है। और छोटे बच्चों को और भी अधिक नींद की आवश्यकता होती है। वृद्ध लोगो की बात करें, तो उन्हें भी कम से कम 7 घंटे की नींद की जरूरत होती है।

4. हमारा शरीर स्वाभाविक रूप से दो अलग-अलग समय पर थक जाता है। यह लगभग दोपहर के 2:00 बजे और रात के 2:00 बजे के आस-पास रहता है। WebMD के नींद विशेषज्ञ, माइकल जे के द्वारा सोने से ठीक पहले आपके शरीर का तापमान गिरना शुरू हो जाता है, जो मस्तिष्क को मेलाटोनिन (मेलाटोनिन वह हार्मोन है, जो शरीर की कई गतिविधियों के लिए जिम्मेदार होता है। इनमें सोने और जागते रहने की प्रक्रिया भी शामिल रहती हैं।) छोड़ने का संकेत देता है। जिससे आपको नींद आती है।

5. जिस प्रकार आहार और व्यायाम हमारे शरीर के लिए महत्वपूर्ण होता है। उसी प्रकार नींद भी हमारे लिए उतनी ही महत्वपूर्ण होती है।

6. स्लीप डिसऑर्डर के अंतर्राष्ट्रीय वर्गीकरण के अनुसार, रात को काम करने वाले मजदूरो को कई प्रकार की पुरानी बीमारी जैसे हृदय और जठरांत्र संबंधित रोगों के होने का खतरा बढ़ जाता है।

7. नवजात शिशु आमतौर पर दिन में लगभग 8 से 9 घंटे और रात में 8 घंटे तक सोते हैं। लेकिन शिशु कुछ समय बाद फिर से जाग जाते हैं, क्योंकि इनका पेट छोटा होता है, और यह जल्दी भरता है और खाली होता है। नतीजे में इनको हर कुछ समय बाद फिर से भूख लगती है, और यह फिर से उठ जाते हैं।

8. घोड़े, जेबरा और हाथी खड़े रहकर सोते हैं। गाय भी खड़े रहकर सो सकती है, किंतु वह ज्यादातर लेटकर सोना पसंद करती है।

9. जो लोग अच्छे से नींद नहीं लेते हैं, उनमें लेप्टिन के स्तर गिर जाते हैं। लेप्टिन वह हार्मोन है, जो भूख के स्तर को कम करता है। लेप्टिन का स्तर कम होने से भूख बढ़ जाती है।

10. हमारे शरीर में मेलाटोनिन नामक हार्मोन मौजूद रहते हैं, जो नींद और जागने की प्रक्रिया को नियंत्रित करते हैं। जब हम अंधेरे कमरे में सोते हैं, तो हमारे शरीर में मेलाटोनिन हार्मोन का उत्पादन अधिक होता है। सर्दी एक काला समय होता है। इसीलिए हमारे शरीर में सर्दियों में मेलाटोनिन हार्मोन का उत्पादन अधिक होता है। इसी कारण हमे सर्दियों में नींद अधिक आती है।

11. एक औसत व्यक्ति अपने पूरे जीवन काल में लगभग 26 साल तक सो लेता है। जो लगभग 9490 दिन या 227760 घंटे के बराबर होता है।

12. हम सोते वक्त सपने देखते हैं, लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं, जिनको सोने के बाद कभी सपने नहीं आते है। उन्हें विज्ञान की भाषा में पर्सनैलिटी डिसऑर्डर की बीमारी कहा जाता है।

13. निद्रा पक्षाघात (sleep paralysis) एक बीमारी है। जिसमें व्यक्ति नींद से उठने, जागने और बोलने में असमर्थ रहता है। इस स्थिति में वह काल्पनिक वस्तु को वास्तविक वस्तु समझने लगता है।

14. डॉल्फिन केवल एक आंख बंद कर सोती है। इनके मस्तिष्क के दाहिने आधे हिस्से में नींद आती है, और बाईं हिस्से की आंख बंद रहती है। इस प्रकार की नींद को अनहैम्फेरिक नींद के रूप में जाना जाता है।

15. खरगोश अपनी आंखें खोल कर सोता है। इसलिए यह बताना काफी मुश्किल होता है, कि वह जाग रहा है, या सो रहा है। एक सोए हुए खरगोश की सासे धीमी हो जाती है, और उसकी नाक लड़खड़ाना बंद हो जाती है। मछली भी सोते वक्त अपनी आंखें बंद नहीं करती है। इसका सीधा सा कारण यह है, कि इनके पास पलकें नहीं होती है।

पढ़िये:

16. अमेरिका में 8% से ज्यादा लोग बिना कपड़े के सोते हैं। बिना कपड़े के सोने से हमारा रक्त परिसंचरण (blood circulation) मे सुधार होता है। जो हमारे दिल और मांसपेशियों के लिए अच्छा होता है।

17. यदि आपको छींक आ रही है, तो आप सो नहीं सकते हैं। या फिर यूं कह लीजिए, कि सोते वक्त आपको छींक नहीं आ सकती है। क्योंकि जब आप सोते हैं, तब आपके साथ छींक से जुड़ी नसें भी आराम की अवस्था में होती है। इसीलिए कभी भी नींद के दौरान आपको छींक नहीं आती है।

18. कलर टीवी आने से पहले 80% लोगों को ब्लैक एंड वाइट सपने आते थे। यानि हमारे सपनों पर टेकनोलोजी का बड़ा प्रभाव है।

19. बिना सोए रहने का सबसे बड़ा रिकॉर्ड 264 घंटे या 11 दिन का है। 1965 में, हाई स्कूल के एक 17 वर्षीय छात्र रैंडी गार्डनर ने यह रिकॉर्ड अपने नाम किया।

20. एक घोंघा (snail) लगभग 3 साल तक सो सकता है।

21. समुद्री ऊदबिलाव (Sea Otters) सोते वक्त एक दूसरे का हाथ पकड़ लेते हैं। ताकि वे एक दूसरे से बिछड़ ना जाए।

22. डेविड एचिंसन 1849 में अमेरिका के राष्ट्रपति बने। लेकिन आश्चर्य की बात यह थी, कि वे मात्र एक दिन के लिए राष्ट्रपति बने और उसमें भी उन्होने अपना ज्यादातर दिन सोने में ही गुजार दिया।

23. न्यरोसाइंटिस्ट्‍स का यह मानना है, कि जन्म के कुछ वर्ष तक शिशु सपने नहीं देखते हैं।

24. खर्राटों की आवाज तब आती है, जब हवा का बहाव गले की त्वचा में स्थित ऊतकों (Tissues) में थरथराहट पैदा करता है। खराटे सांस अंदर लेते वक्त आते हैं और यह नाक, मुंह कही से भी आ सकते हैं।

25. स्लीप एपनिया एक गंभीर नींद विकार बीमारी है। जिसमें मनुष्य की बार-बार सांस रुक जाती है, और फिर से शुरू हो जाती है। यदि आप जोर से खर्राटे लेते हैं और पूरी रात की नींद के बावजूद भी आप थकान महसूस करते हैं, तो आपको स्लीप एपनिया हो सकता है।

26. जब आपकी नींद ठीक अलार्म बजने से थोड़ी देर पहले खुलती है, तो इसे सर्कडियन ताल (Circadian Rhythm) कहते हैं।

27. सेक्स करने के बाद हमें काफी अच्छी नींद का अनुभव होता है। इसका मुख्य कारण यह है, कि यह कोर्टिसोल (तनाव से संबंधित हार्मोन) को कम करता है। साथ ही सेक्स होने से प्रोलैक्टिन नामक हार्मोनस बाहर निकलते हैं। जिसके वजह से आप आराम और नींद महसूस करते हैं।

28. विश्व नींद दिवस (World Sleep Day) हर साल 12 मार्च को मनाया जाता है।

29. एक सर्वे के अनुसार भारत दूसरा सबसे बड़ा नींद से वंचित देश है। जो लगभग 7 घंटे और 1 मिनट की औसत नींद लेता है। जबकि जापान दुनिया भर में पहले नंबर पर सबसे बड़ा नींद से वंचित देश है, जहाँ के लोग केवल 6 घंटे और 47 मिनट की नींद लेता है।

30. भारत में 51% लोग रात 11:00 बजे और से 1:00 बजे के बीच सो जाते हैं।

31. जिन व्यक्तियों का ऊंचाई से संबंधित कार्य होता है, उन्हें नींद न आने का खतरा अधिक रहता है, क्योंकि अधिक ऊंचाई पर उड़ने से ऑक्सीजन की कमी के कारण उनकी नींद में खलल पड़ती है।

32. पर्याप्त नींद न लेने से यह आपके मस्तिष्क को उसी तरह प्रभावित करता है, जैसे कि आप किसी नशे में होते हो।

पढ़िये:

33. नींद की कमी से आपकी याददाश्त पर एक गंभीर प्रभाव पड़ता है, और यह आपकी याददाश्त को कम कर देता है। इसका कारण यह है, कि नींद हमारे मस्तिष्क में होने वाले बदलावों की यादों को ठोस बनाती है।

34. एक शोध के अनुसार नींद की कमी से वजन बढ़ने की समस्या हो सकती है।

35. हाइपोथैलेमस हमारे मस्तिष्क के अंदर का एक मूंगफली के आकार का हिस्सा होता है। इसमें तंत्रिका कोशिकाओं के समूह होते हैं। जो नींद और उत्तेजना को प्रभावित करते है।

36. जिन व्यक्तियों को नींद न आने की समस्या रहती है, व योग करके अपनी नींद को बेहतर बना सकते हैं।

37. जब आप किसी तनाव या किसी अवसाद (Depression) से पीड़ित होते है, तब एक सामान्य व्यक्ति की तुलना में आप 3 से 4 गुना अधिक सपने देखते हैं।

38. डच शोधकर्ताओं ने पाया, कि मोज़े पहन के सोने से व्यक्ति की कामोत्तेजना क्षमता बढ़ जाती है।

39. पुरुषों की तुलना में महिलाओं को अधिक डरावने और भावनात्मक सपने आते हैं।

40. 80 प्रतिशत भारतीय काम के समय में नींद आना महसूस करते है और यह हफ्ते में 1 से 3 दिन होता है।

41. 16 प्रतिशत भारतीयों को लगता है, कि उन्हें इंसोमिया (नींद ना आने की बीमारी) है।

42. New Zealand, Finland, Netherlands, Australia व Britain में लोग क्रमश सबसे ज्यादा समय सोते है, जो साढ़े साथ घंटे से भी ज्यादा है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *