रोजमेरी क्या है? इसके 15 फायदे व नुक्सान – Rosemary Plant in Hindi

Rosemary benefits & side effects in hindi

इस लेख में हम Chia SeedsQuinoa, Kiwi फल, और Finger Millets (रागी) जैसे ही एक पॉवर-प्लांट की बात करने वाले है. जिसका नाम Rosemary है. Rosemary यानि गुलमेहँदी, सामन्य मेहँदी से थोड़ी भिन्न है.

इस लेख में आपको निम्न बिन्दुओ पर जानकारी मिलेगी.

  • रोजमेरी क्या है?
  • रोजमेरी के फायदे
  • व रोजमेरी के नुक्सान (Side Effects in Hindi)

तो आइये जानते है, रोजमेरी के बारे में.

रोज़मेरी क्या है | What is Rosemary in hindi

Rosemary को हिन्दी मे मेहंदी या गुलमेहँदी भी कहते है. इसके पत्ती से तेल निकाला जाता है, खासतौर पर इसका दवा बनाने के लिए उपयोग किया जाता है।

रोज़मेरी का उपयोग पाचन समस्याओं के लिए किया जाता है, जिसमें नाराज़गी, आंतों की गैस (पेट फूलना), और भूख न लगना शामिल है।

यह लिवर और पित्ताशय की थैली की शिकायत, गाउट, खांसी, सिरदर्द, उच्च रक्तचाप, निम्न रक्तचाप, उम्र से संबंधित स्मृति हानि को कम करने, ऊर्जा और मानसिक थकान की बीमारी के लिए भी उपयोग किया जाता है। कुछ महिलाएं मासिक धर्म के प्रवाह को बढ़ाने और गर्भपात का कारण बढ़ाने के लिए मेंहदी का उपयोग करती हैं।

ये गंजापन रोकने और समस्या के इलाज के लिए रोज़मेरी को त्वचा पर लगाया जाता है। इसका उपयोग परिसंचरण समस्याओं, दांत दर्द, एक्जिमा नामक त्वचा की स्थिति मांसपेशियों में दर्द, कटिस्नायुशूल तंत्रिका के साथ दर्द और छाती की दीवार के दर्द के इलाज के लिए भी किया जाता है। इसका उपयोग घाव भरने, स्नान चिकित्सा, और एक कीट विकर्षक के रूप में भी किया जाता है।

अब हम पहले Rosemary के फायदे देखंगे और उसके बाद कुछ हो सकने वाले नुक्सान.

रोजमेरी के फायदे | Rosemary Benefits in hindi

rosemary-in-hindi रोजमेरी

रोजमेरी हमारे दैनिक जीवन और शरीर के लिए बहुत ही लाभदायक है जो उम्र बढ़ने के साथ-साथ जो तक तकलीफ है. जैसे सूजन दर्द थकावट परेशानी इन को दूर करने के लिए सहायक है. लेकिन इसके अलावा भी इसके ढेरों फायदे हैं. जो आपको बताने वाले हैं

1. Rosemary बालों का झड़ना रोकता है

प्रारंभिक शोध से पता चलता है, कि स्कैल्प पर लैवेंडर, थाइम, और देवदार के तेल के साथ मेंहदी का तेल लगाने से कुछ लोगों में बालों के विकास में सुधार होता है।

2. याददाश्त में सुधार

उम्र के साथ मानसिक गिरावट सामन्य बन गया है. कुछ शुरुआती शोध बताते हैं, कि पाउडर मेंहदी की पत्तियां लेने से स्वस्थ, वृद्ध वयस्कों में याददाश्त की गति का सुधार हो सकता है। हालाँकि, ज्यादा उच्च खुराक से याददाश्त खराब हो सकती है। लेकिन सही रूप से लेन पर याददाश्त की गुणवत्ता में सुधार कर सकती है

3. रोजमेरी गंजापन दूर करने के लिए

रोजमेरी मेंहदी और इसका तेल लगाने से बालो पर गंजापन वाले लोगों में बालों की गिनती बढ़ने के लिए मिनोक्सिडिल के रूप में काम करता है. ये गंजापन दूर करने के लिए भी सहायक है और साथ ही यह बालों से डैंड्रफ जैसी समस्याओं से भी छुटकारा दिला सकती है

4. सिर दर्द के इलाज में उपयोगी

रोजमेरी सरदर्द और माइग्रेन को दूर करने के लिए भी एक सहायक जड़ी बूटी है. माइग्रेन की समस्या को दूर करने के लिए एक बड़े से बर्तन में पानी गर्म करके उसमें कुछ रोजमेरी की पत्तियां डालकर उबाल लें और उस पानी के बाप से 10:15 मिनट तक उसका भाप ले. उसे माइग्रेन की समस्या चुटकियों में ठीक हो सकती है.

5. त्वचा के लिए फायदेमंद

रोजमेरी में बहुत तरह के एंटी-एजिंग तत्व और अन्य तत्व पाए जाते हैं.जो शरीर की त्वचा को हेल्दी बनाए रखने में सहायक होते हैं.रोजमेरी युक्त क्रीम लगाने से चेहरे की त्वचा पर झुर्रियां नहीं पड़ती है. अगर समय के साथ त्वचा में कुछ बदलाव हो भी गया हो. तो वह इससे ठीक हो जाता है. रोजमेरी स्किन के लिए टोनर का काम करती है.

6. तनाव को दूर करती है

रोजमेरी की सुगंध मनमोहक होती है. इसकी खुशबू से दिमाग बिलकुल शांत हो जाता है और इसका उपयोग जब अरोमा थेरेपी करवाते हैं तो उसमें रोजमेरी तेल का उपयोग किया जाता है. इसलिए इसे तनाव दूर करने का एक रामबाण नुस्खा माना जाता है

7. कब्ज को दूर करने में

रोजमेरी में एंटीबैक्टीरियल तत्व पाए जाते हैं. जो अक्सर पेट को ठीक करने में मदद करते हैं. रोजमेरी से खराब पेट कब्ज सूजन और दस्त इत्यादि के लिए आप इसका उपयोग कर सकते हैं. साथ ही इससे पेट और संबंध प्रणाली को नियंत्रित भी कर सकते हैं. इसी सप्ताह में एक बार जरूर इस्तेमाल करना चाहिए.

8. सूजन दूर करने में

रोजमेरी के इस्तेमाल से शरीर का सूजन कम होता है और इससे कार्नोसोल और कार्नोसिक नामक दो शक्तिशाली एंटी-ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं. जो सूजन को कम करने में बहुत मदद करते हैं.यह बहुत सी चीजों के लिए प्रभावशाली होती है

9. संक्रमण से बचाता है

रोजमेरी विशेष रूप से बैक्टीरिया के संक्रमण के खिलाफ शक्तिशाली काम करता है. विशेषकर पेट के गैलरी बैक्ट्रिया आमरूप से बहुत खतरनाक है. जो पेट के अल्सर का कारण बन सकता है. इस तरह रोजमेरी संक्रमण को रोकने में मदद करता है

रोजमेरी के नुक्सान | Rosemary side effects in hindi

रोजमेरी का उपयोग सही मात्रा में करने पर इसके हजारों फायदे हैं. लेकिन किसी अवस्था में इसका उपयोग करना आपको हानि पहुंचा सकता है. रोजमेरी का इस्तेमाल करने से कुछ नुकसान भी होते हैं. जो आपको बताने वाले हैं. तो चलिए जानते हैं रोजमेरी के नुकसान हिंदी में.

1.बड़ी मात्रा में मेंहदी पेट और आंतों में जलन, गुर्दे की क्षति और / या विषाक्तता का कारण बन सकती है.

2. छोटे बच्चों के पहुंच से दूर रखें, अधिक मात्रा के मामले में चिकित्सा सहायता प्राप्त करें

3.गर्भावस्था के दौरान इसका उपयोग नहीं करना चाहिए.

4.बड़ी मात्रा में मेंहदी पेट और आंतों में जलन, गुर्दे की क्षति और / या विषाक्तता का कारण बन सकता है।

 5.निरंतर उपयोग करने पर एलर्जी जिल्द की सूजन का कारण रोजमेरी हो सकता है

6.रोज़मेरी में ऐंठन / एपिलेप्टोजेनिक गुण होते हैं और इससे दौरे पड़ सकते हैं।

निष्कर्ष

हमे उम्मीद है, कि यह लेख “रोजमेरी क्या है? इसके 15 फायदे व नुक्सान – Rosemary Plant in Hindi” आपको पसंद आया होगा. इसके साथ आपको रोजमेरी के फायदे व नुक्सान जानने को मिल गये होंगे.

अगर आपका कोई सवाल या सुझाव रोजमेरी पर और इस लेख पर है, तो हमे कमेंट में बताना ना भूले.

पढ़िये:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *