Painkiller क्या है? प्रकार, Side Effects, व उपयोग

painkillers analgesic in hindi

इस लेख में हम Painkillers Medicines यानी दर्द-निवारक दवाईयों की बात करने वाले है. Painkillers क्या है? पेनकिलर के प्रकार और Painkillers कैसे काम करती है? इस पर विस्तार मे जानकारी देंगे.

ध्यान रहे, Painkillers के फायदे समेत बहुत से नुक्सान (Side Effects) भी है. इसलिए Painkillers की खुराख (Dosage) कभी भी डॉक्टर और विषेज्ञय की सलाह बिना नहीं लेनी चाहिए.

Painkillers क्या है?

Painkillers दो अंग्रेजी शब्द “Pain” और “Killer” से मिलकर बना है. जिसका मतलब दर्द-निवारक होता है. Painkillers को Analgesic भी कहते है।

Painkillers Medicines का काम शरीर में दर्द को कम करने का होता है. अब अलग-अलग तरीके की Painkillers अलग-अलग तरह से काम करती है।

Painkillers को अलग-अलग तरीके से ले सकते है, जैसे:

  • मुह से (टैबलेट, सिरप, कैप्सूल)
  • इंजेक्शन से
  • मलाशय नलिका से
  • क्रीम

Painkillers के प्रकार

Painkillers बहुत प्रकार की होती है. लेकिन इसे मुख्यत तीन भागो में बांटा गया है.

तीनों Painkillers अलग-अलग तरीके से काम करती है और दर्द को कम करती है।

NSAID

NSAID यानि Non-Steroidal Anti-Inflammatory Drugs मे खाश सूजन कम करने के गुण होते है। निम्न कुछ प्रमुख NSAID दवाई के उदाहरण है।

NSAID कैसे काम करती है?

Prostaglandins नामक केमिकल हमारे शरीर मे होता है. जिससे सुजन, दर्द व बुखार आता है. Cyclooxygenase नामक Enzyme (एंजाइम) जिसके दो प्रकार है, COX1 और COX2. यही एंजाइम Prostaglandins को शरीर की कोशिकाओ में सक्रीय बनाता है.

NSAID इन COX1 ओर COX2 एंजाइम को ब्लॉक करते है।

Paracetamol

Paracetamol सबसे ज्यादा प्रसिद्ध Painkillers और Fever-Reducer (बुखार कम करने वाली) दवाई माना जाता है।

Paracetamol एक केमिकल है, जो निम्न समेत बहुत सी दवाइयो मे होता है।

Paracetamol कैसे काम करती है?

यह साफ नहीं हुआ है, कि Paracetamol कैसे काम करती है। लेकिन कहा जाता है, कि यह दिमाग और स्पाइनल कॉर्ड मे मौजूद COX Enzyme को ब्लॉक करती है। यह सिर्फ बुखार और दर्द पर काम करती है, NSAID की तरह सूजन कम नही करती है।

Opioids

Opioids दो प्रकार की होती है, स्ट्रॉंग और वीक। आमतौर पर डॉक्टर वीक (कमजोर) Opioid ही सलाह करते है। स्ट्रॉंग Opioid का इस्तेमाल बहुत कम होता है। Morphine एक स्ट्रॉंग opioid है।

Opioids की आदत पड़ जाती है, इसलिए इसकी खुराख को सलाह नही किया जाता है।

Opioids कैसे काम करती है?

Opioids, CNS (Central Nervous System), आंत और अन्य शरीर के हिस्से मे Opioids Receptor के sसाथ बाइंड करता है। जिससे दर्द महसूसू कम होता है।

Painkillers Dosage (खुराख)

Painkillers की खुराख पूरी तरह से डॉक्टर की सलाह पर निर्भर करती है।

अब कौनसी Painkillers कितने समय तक लेनी है, इसके बहुत से फ़ैक्टर है। उम्र, लिंग, अवस्था, जारी दवाई व अन्य चेक-अप के बाद ही डॉक्टर सुझाव देते है।

आमतौर पर NSAID, मांसपेशियो और जाइंट मे दर्द व सूजन पर सलाह की जाती है। जिसे खाने के बाद ले सकते है।

Paracetamol की प्रतिदिन की 3 से 4 ख़ुराक भी सलाह की जाती है। जिसकी दर्द खत्म ना हो, तब तक खुराख जारी रखनी पड़ती है।

Painkillers के नूक्सान (Side Effects)

Painkillers की ओवरडोज, शरीर की अलग प्रतिक्रिया और एलर्जी के कारण सभी प्रकार की Painkillers से Side Effects होते है। जिनपर ध्यान ना देने से शरीर को भारी नुक्सान हो सकता है।

इसलिए Side Effects गंभीर हो, तो Painkillers की खुराख बंद कर, जल्द से जल्द मेडिकल सहायता लेनी चाहिए।

निम्न Painkillers से हो सकने वाले साइड-एफ़ेक्ट्स है। इनके अलावा भी अन्य साइड एफ़ेक्ट्स हो सकते है।

NSAID Side Effects

  • जी मचलाना
  • उल्टी
  • दस्त
  • कब्ज
  • त्वचा पर रैशेज
  • भूख नहीं लगना
  • चक्कर आना
  • सिरदर्द
  • उनींदापन

Paracetamol Side Effects

  • एलर्जी
  • सूजन
  • रेशेज
  • साँस लेने में कठिनाई
  • गंभीर चक्कर आना
  • लीवर में समस्या
  • प्लेटलेट्स में कमी
  • कम रक्त दबाव
  • सफ़ेद और लाल रक्त कोशिकाओ में कमी (Anemia)
  • उलटी आना

Opioids Side Effects

  • जी मचलना
  • उल्टी
  • कब्ज
  • मुह मे सूखापन
  • बेहोशी
  • चक्कर आना
  • शारीरिक निर्भरता

FAQ

क्या Painkillers की लत लगती है?

सभी Painkillers, Addictive (लत लागने वाली) नहीं होती है। लेकिन Weak व Strong Opioids की लत लग सकती है। इसलिए इनकी खुराख डॉक्टर बहुत कम केस मे करते है।

पीरियड के दर्द मे Painkillers ले सकते है?

हाँ, पीरियड मे NSAID और Paracetamol की सलाह दी जाती है। लेकिन रेगुलर खुराख शुरू करने से पहले विषेज्ञय से परामर्श लेना जरूरी है।

गर्भवती महिलाए Painkillers ले सकती है?

गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओ को Painkillers की खुराख लेने मे ज्यादा सावधानी रखनी चाहिए। क्योकि इस अवस्था मे ज्यादा साइड एफ़ेक्ट्स होने की संभवना रहती है। डॉक्टर को अपनी अवस्था की सूचना देकर ही Painkillers के खुराख का सुझाव लेना चाहिए।

क्या Painkillers लेनी चाहिए?

Painkillers का सेवन बिना विषेज्ञय की सलाह के नहीं करना चाहिए। क्योकि इससे साइड एफ़ेक्ट्स का खतरा रहता है। Painkillers डॉक्टर से परामर्श के बाद ही लेनी चाहिए। वही Opioids से ज्यादा सावधानी रखनी चाहिए, क्योकि इसकी लत पड़ सकती है।

Painkillers कितनी देर मे प्रभाव दिखाती है?

यह मुख्यत Painkillers के प्रकार पर निर्भर करता है। लेकिन औसतन Painkillers 20 से 30 मिनट मे अपना असर शुरू करती है।

Painkillers के लिए Prescription की आवयश्कता होती है?

हाँ, अधिकतर Painkillers OTC (Over-the-counter) होती है। इसलिए Prescription की आवयश्कता रहती है। Strong-Opioids हर जगह उपलब्ध नही होती है।

निष्कर्ष

हमे उम्मीद है, कि यह लेख “Painkiller क्या है? फ़ायदे, Side Effects, व उपयोग” आपके लिये मददगार होगा। इसके साथ आपको पेन-किलर के प्रकार, फायदे व नुक्सान के बारे मे पता चल गया होगा।

अगर आपका कोई भी सवाल या सुझाव है, तो हमे कमेंट मे जरूर बताए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *