Laxitas Syrup in Hindi | नुक्सान, उपयोग, खुराक, कीमत

Laxitas Syrup in Hindi

Laxitas Syrup in Hindi: इस लेख मे आपको Laxitas Syrup की जानकारी मिलेगी। Laxitas Syrup का मुख्य उपयोग मलाशय को मुलायम कर पेट साफ करने मे होता है। इस लेख मे आपको निम्न प्रमुख बिन्दुओ पर जानकारी मिलेगी।

  • What is Laxitas Syrup in Hindi – लैक्सीटस सिरप क्या है?
  • Laxitas Syrup Uses & Benefits in Hindi – लैक्सीटस के उपयोग व फायदे
  • Laxitas Syrup Side Effects in Hindi – लैक्सीटस के दुष्प्रभाव
  • Laxitas Syrup Dosage in Hindi – लैक्सीटस की खुराक
  • Laxitas Syrup Precautions in Hindi -लैक्सीटस से सावधानिया
नाम Laxitas Syrup
संरचना Liquid Paraffin (1.25 ml) + Magnesium Hydroxide or Milk of Magnesia (3.75 ml) + Sodium Picosulfate (3.33 mg) 
निर्माता Tas Med India Pvt Ltd
दवा-प्रकार Laxatives
उपयोग मल को मुलायम व आसान बनाने में, पेट में अल्सर, कब्ज आदि
दुष्प्रभाव पेट दर्द, उल्टी, सिर चकराना आदि
ख़ुराक डॉक्टर की सलाह अनुसार
कब ना ले दस्त, एलर्जी, गर्भावस्था आदि (डॉक्टर की सलाह अनुसार)
खाद्य पदार्थ से प्रतिक्रिया अज्ञात
किसी अवस्था से प्रतिक्रिया अज्ञात
अन्य दवाई से प्रतिक्रिया Furosemide, Ketaconazole, Prednisolone आदि
कीमत 191.84 रुपये (225 Ml)
वेरिएंट Laxitas 100ml Syrup, Laxitas 200ml Syrup
विकल्प Cremaffin syrup, Safolax Syrup, Laxito plus liquid आदि

What is Laxitas Syrup in Hindi – लैक्सीटस सिरप क्या है?

Laxitas Syrup एक दवा है, जिसे मौखिक रूप से ग्रहण किया जाता है और इसको मुख्य: इस्तेमाल कब्ज दूर करने के लिए किया जाता हैं। ज्यादातर इसका उपयोग कमजोर पाचन तंत्र वाले रोगी करते हैं।

यह दवा Tas Med India Pvt Ltd द्वारा निर्मित है और इसका उपयोग मलाशय मार्ग में दर्द, कब्ज, पेट की एसिडिटी, किडनी में दर्द, आंतों में पानी भरना, Dehydration (निर्जलीकरण), दस्त आदि सब में किया जाता है।

आंतों के सिकुड़न के मामले में इसके सेवन से पूरी तरह बचा जाना चाहिए।

Laxitas Syrup Composition in Hindi – लैक्सीटस सिरप संरचना

Laxitas Syrup निम्नलिखित सक्रिय सामग्रियों से निर्मित की जाती है।

Liquid Paraffin (1.25 ml) + Magnesium Hydroxide or Milk of Magnesia (3.75 ml) + Sodium Picosulfate (3.33 mg)  

Laxitas Syrup कैसे काम करती है?

Laxitas Syrup मे तरल Paraffin, Magnesium Hydroxide, व Sodium Picosulfate का मिश्रण हैं। इस दवा का इस्तेमाल कब्ज में किया जाता हैं।

  • दवा में उपस्थित Paraffin मल के पानी और वसा को आसानी से अवशोषित करने में मदद करता है।
  • Magnesium Hydroxide इस दवा का महत्वपूर्ण घटक है, जो आंत में पानी को खिंचता है और जमे हुए मल को नरम और चिकना बनाता है। जिससे मलमार्ग का कार्य आसान हो जाता हैं।
  • Sodium Picosulfate आंतो को उत्तेजित कर दबाव बनाता है। जो आंत सामग्री को मलमार्ग से होकर बाहर निकालने में मदद करता हैं।

पढ़िये:

Laxitas Syrup Uses & Benefits in Hindi – लैक्सीटस के उपयोग व फायदे

निम्न अवस्थाओ और विकारो मे अक्सर Laxitas Syrup का उपयोग व डॉक्टर द्वारा सलाह किया जाता है। इनके अलावा भी अन्य अवस्थाओ मे डॉक्टर Laxitas Syrup सलाह करते है।

  • गुदा/मलाशय में दर्द
  • पेट मे गैस
  • मल को मुलायम व आसान बनाने में
  • पेट में अल्सर
  • कोलोनोस्कोपी से पहले आंत खाली करने के लिए
  • आंतों में पानी बढ़ जाना
  • मलाशय की दर्दनाक स्थिति
  • पेट में एसिड
  • कब्ज
  • अपच

Laxitas Syrup Side Effects in Hindi – लैक्सीटस के दुष्प्रभाव

निम्न Laxitas Syrup से हो सकने वाले Side Effects है। जो शरीर की अलग प्रतिक्रिया, एलर्जी या गलत खुराक से हो सकते है। इसलिए पहले डॉक्टर से खुराक समझना जरूरी है।

  • पेट में ऐंठन या बेचैनी
  • पेट दर्द
  • उल्टी
  • सिर चकराना
  • जी मिचलाना
  • दस्त
  • निर्जलीकरण
  • भूख में कमी
  • सूजन
  • त्वचा की खुजली
  • मांसपेशी में कमज़ोरी
  • थकान

इनके अलावा भी Laxitas Syrup से अन्य Side Effects हो सकते है। अत्यंत Side Effects दिखने पर चिकित्सक की सहायता ले।

Laxitas Syrup Dosage in Hindi – लैक्सीटस की खुराक

Laxitas Syrup की खुराक व्यक्ति की शारीरिक व मानसिक अवस्था, उम्र, लिंग, वजन, मेडिकल रिपोर्ट आदि पर निर्भर करती है। इसलिए इसकी खुराक डॉक्टर की सलाह अनुसार ले।

  • आमतौर पर 3-5 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए Laxitas Syrup की सामान्य खुराक 1- 1 चम्मच है।
  • 5-12 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए 1-2 चम्मच निर्धारित है।
  • वयस्कों और 12 वर्ष से अधिक उम्र के बच्चों के लिए एक बड़ा चम्मच निर्धारित हैं।
  • खुराक कब, कैसे व कितनी ले, इस जानकारी के लिए डॉक्टर से ही सलाह ले।

पढ़िये:

Laxitas Syrup Precautions in Hindi – (लैक्सीटस से सावधानिया)

Laxitas Syrup का उपयोग करने से पहले इसकी सावधानियों के बारे मे जान लेना बहुत आवश्यक है।

When to avoid (कब इसके सेवन से बचना चाहिए)

  • Allergy (एलर्जी)
  • Pregnancy (गर्भावस्था)
  • Liver Diseases (लिवर  बीमारियाँ)
  • Blockage (रुकावट)
  • Diarrhoea (दस्त)
  • Heart Problem (हृदय रोग)
  • Breastfeeding Women (स्तनपान)

Food Interaction (खाद्य सहभागिता)

Laxitas Syrup का सेवन करते समय किसी विशेष खाद्य सामग्री से बचने की आवश्यकता नहीं होती है। लेकिन शराब जैसी पेय प्रदार्थ के सेवन से बचना चाहिए। वही डॉक्टर द्वारा दी खान-पान पाबंधी का पालन करना चाहिए।

Medicine Interaction (दवाओं की आपसी क्रियाएं)

कई बार कुछ दवाए साथ लेना सुरक्षित नहीं होता। इसलिए अनहोनी से बचने के लिए डॉक्टर की परामर्श के अनुसार ही इस दवाई का सेवन जारी दवाई के साथ करना चाहिए।

Laxitas Syrup के सेवन के साथ निम्नलिखित विशेष रासायनिक घटकों से दूर रहना चाहिए।

  • Alcohol
  • Furosemide
  • Ketaconazole
  • Prednisolone
  • Digoxin

Disease interaction (पूर्व-मौजूदा बीमारियों के साथ क्रिया)

  • Intestinal Obstruction and appendicitis (आंत रुकावट और एपेंडिसाइटिस)

Laxitas Syrup FAQ in Hindi

1) Laxitas Syrup का सेवन करने के बाद इसका परिणाम कितने समय बाद दिखता है?

उत्तर: Laxitas Syrup का परिणाम मामूली तौर पर 12 से 24 घंटों के भीतर दिखता है। कुछ मामलों में 2 से 3 दिन भी लग सकते हैं।

2) क्या Laxitas Syrup मासिक धर्म को प्रभावित करता है?

उत्तर: नहीं, यह आम तौर पर मासिक धर्म चक्र को प्रभावित नहीं करती है, लेकिन दवा का सेवन करने से पहले हमेशा मासिक धर्म की समस्याओं के मामले में डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए।

3) Laxitas Syrup को खाली पेट लेना चाहिए?

उत्तर: कब्ज के निवारण के लिए ज्यादातर इसे खाना खाने के बाद लिया जाता हैं क्योंकि यह दवा मल को चिकनाई प्रदान कर पेट की सफाई करता हैं। इसलिए खाली पेट से अच्छा इसे खाना खाने के बाद लिया जाये।

4) क्या Laxitas Syrup बच्चों के लिए सुरक्षित है?

उत्तर: बच्चों के लिए Laxitas Syrup की निर्धारित खुराक सुरक्षित हैं। चूँकि इसकी उम्र के अनुसार निर्धारित खुराक का सेवन बिल्कुल सुरक्षित हैं। इसलिए बच्चों को निर्धारित खुराक देना सुरक्षित हैं और डॉक्टर की सलाह अवश्य लेनी चाहिए।

5) Laxitas Syrup की लगातार 2 खुराक की खपत के बीच समय का अंतराल कितना होना चाहिए?

उत्तर: Laxitas Syrup विषाक्तता या ओवरडोज से बचने के लिए दो खुराक के बीच कम से कम 4-6 घंटे का समय अंतराल होना चाहिए।

6) क्या Laxitas Syrup के सेवन से इसकी आदत पड़ती है?

उत्तर: Laxitas Syrup के सेवन से इसकी कोई आदत नहीं पड़ती क्योंकि यह कब्ज के लिए असरदार दवाई है और कम समय तक इस्तेमाल की जाती है।

7) क्या भारत में Laxitas Syrup Legal है?

उत्तर: हां, यह भारत में पूर्णतया Legal है। Laxitas Syrup पर्यावरण फ्रेंडली हैं।

8) क्या होगा अगर मुझे Laxitas Syrup से एलर्जी है?

उत्तर: यदि आपको इस दवा से एलर्जी है तो आपको अपने डॉक्टर को इसके बारे में बताना चाहिए। ऐसी स्थिति में बिना डॉक्टरी सलाह के इसका कदापि सेवन नहीं करना चाहिए।

9) क्या Laxitas Syrup का उपयोग गर्भवती महिला के लिए ठीक है?

उत्तर: इस संवेदनशील अवस्था मे किसी भी पेट संबंधित दवाई की भारी खुराक माँ और शिशु दोनों की सेहत के लिए हानिकारक साबित हो सकती है। इसलिए डॉक्टर की सलाह और परामर्श से ही Laxitas Syrup का सेवन करना चाहिए।

10) क्या Laxitas Syrup को कुछ खाद्य पदार्थों के साथ लेने से नकारात्मक प्रभाव पड़ता है?

उत्तर: हां, Laxitas Syrup का सेवन करते समय एल्कोहोल से बचना चाहिए।

पढ़िये:

Laxitas Syrup Price & Variant

Laxitas Syrup के वेरिएंट व उनकी कीमत निम्नलिखित है।

वेरिएंट नाम कीमत
Laxitas 100ml Syrup 55.23 Rs
Laxitas 200ml Syrup 102.00 Rs

Laxitas Syrup Alternative – लैक्सीटस सिरप के विकल्प

निम्न Laxitas Syrup के विकल्प (Alternative) है। जिसका इस्तेमाल Laxitas Syrup की जगह किया जा सकता है।

लेकिन ध्यान रहे, इनके उपयोग से पहले डॉक्टर की सलाह लेना जरूरी है।

  • Cremaffin syrup
  • Safolax Syrup
  • Laxito plus liquid
  • Laxobig suspension
  • Trulax plus
  • Zelax-plus suspension
  • Lactihep Plus Oral
  • Picsul plus syrup
  • Safolax suspension
  • Sofject plus suspension
  • Kinlax Plus Sugar free syrup

निष्कर्ष

हमे उम्मीद है, कि यह लेख “Laxitas Syrup in Hindi | नुक्सान, उपयोग, खुराक, कीमत” आपके लिए मददगार होगा।

इसके साथ आपको Laxitas Syrup in Hindi, लैक्सीटस सिरप उपयोग, प्रयोग, फ़ायदे, नुक्सान, दुष्प्रभाव, Side Effects, ख़ुराक, कब ले, कैसे ले, कितना ले, कीमत की पूरी जानकारी मिल गयी होगी। अगर आपका कोई सुझाव या सवाल है, तो कमेंट कर सकते है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *