Grilinctus Syrup in Hindi | नुक्सान, उपयोग, खुराक, कीमत

GRILINCTUS SYRUP IN HINDI
नाम Grilinctus Syrup
संरचना Guaifenesin + Chlorpheniramine + maleate + Ammonium chloride
निर्माता Franco Indian Pharmaceuticals Pvt Ltd
दवा-प्रकार Antihistamine
उपयोग खांसी, सांस विकार, एलर्जी आदि।
दुष्प्रभाव सरदर्द, हीव्स, दस्त, उल्टी आदि।
ख़ुराक डॉक्टर की सलाह अनुसार।
कब ना ले गर्भावस्था, गुर्देलिवर से जुड़े विकार मे, Hypersensitivity आदि।
खाद्य पदार्थ से प्रतिक्रिया अज्ञात
अन्य दवाई से प्रतिक्रिया Antidepressants, Sedative, Quinidine आदि।
कीमत 104.63 रुपये
वेरिएंट Grilinctus Ls Syrup, Grilinctus Bm Syrup, Grilinctus Dx Syrup आदि।
विकल्प Brutus Syrup, Lastuss D Syrup, Respira D Syrup आदि।

What is Grilinctus Syrup in Hindi – ग्रीलिंक्टस सिरप क्या है?

Grilinctus Syrup को कफ सिरप के रूप में इस्तेमाल किया जाता हैं, जो पूरी तरह से Expectorant, Antihistamine और Antitussive गुणों से निहित हैं। यह खाँसी और सांस से जुड़ी समस्या से राहत प्रदान करती हैं।

इसका उपयोग सामान्य सर्दी, फ्लू, कफ, शुष्क खाँसी, सांस की तकलीफ आदि सभी लक्षणों के इलाज में किया जाता हैं। Grilinctus Syrup एक काउंटर (OTC) दवा हैं, जो आसानी से किसी भी मेडिकल स्टोर पर उपलब्ध हो जाती हैं। लेकिन इसको खुराक में लाने के लिए डॉक्टरी सलाह आवश्यक हैं।

गर्भावस्था और गुर्दे की बीमारियों के मामलों में इससे पूरी तरह से बचा जाना चाहिए।

Grilinctus Syrup Composition in Hindi – ग्रीलिंक्टस सिरप संरचना

Grilinctus Syrup मे निम्न 4 घटक होते है, जो इसे प्रभावी बनाते है।

Guaifenesin + Chlorpheniramine + maleate + Ammonium chloride

Grilinctus Syrup कैसे काम करती है?

Grilinctus Syrup मुख्य चार प्रभावी घटकों से निर्मित हैं, जो एकजुट होकर कुशलता से खाँसी के लक्षणों व अन्य विकारो पर कार्य करते हैं।

  • Ammonium Chloride और Guaifenesin दोनों मिल के कफ की चिकनाहट और चिपचिपाहट को कम करते हैं।
  • Chlorpheniramine विभिन्न एलर्जी के लक्षणों जैसे छींकने, आँखों में पानी, नाक बहने आदि से राहत प्रदान करता है।
  • Dextromethorphan खाँसी के लिए जिम्मेदार मस्तिष्क की तंत्रिकाओं को प्रभावित करके खांसी को कम करता है।

पढ़िये:

Grilinctus Syrup Uses & Benefits in Hindi – ग्रीलिंक्टस सिरप के उपयोग व फायदे

निम्न अवस्थाओ और विकारो मे ग्रीलिंक्टस सिरप का उपयोग व डॉक्टर द्वारा सलाह किया जाता है।

  • श्वास की बीमारी
  • सामान्य जुखाम
  • एलर्जी
  • ब्रोंकाइटिस
  • हे फीवर (राइनाइटिस)
  • खांसी
  • सदमा (Anaphylactic shock)
  • हाइपोक्लोरिक अवस्था
  • मेटाबोलिक अल्कलोसिस

इनके अलावा भी कुछ अन्य अवस्था मे डॉक्टर Grilinctus Syrup सलाह करते है।

Grilinctus Syrup Side Effects in Hindi – ग्रीलिंक्टस सिरप के दुष्प्रभाव

निम्न Grilinctus Syrup से हो सकने वाले Side Effects है। जो शरीर की अलग प्रतिक्रिया, एलर्जी या गलत खुराक से हो सकते है। साइड एफ़ेक्ट्स से बचने के लिए पहले डॉक्टर से खुराक समझना जरूरी है।

  • अल्प रक्त-चाप
  • सिर चकराना
  • सरदर्द
  • हीव्स
  • दस्त
  • उल्टी
  • बीमारी का एहसास
  • भूख में बदलाव
  • रक्तचाप में कमी
  • एलर्जी संबंधी विकार
  • गुर्दे की पथरी
  • जी मिचलाना
  • पेट दर्द
  • तंद्रा

इनके अलावा भी Grilinctus Syrup से अन्य Side Effects हो सकते है। अत्यंत Side Effects दिखने पर चिकित्सक की सहायता ले।

Grilinctus Syrup dosage in Hindi – ग्रीलिंक्टस सिरप की खुराक

  • जैसा कि इसका सेवन बहुत समझदारी से किया जाना चाहिए। इसलिए चिकित्सकों द्वारा इसकी खुराक का एक मापदंड तैयार किया गया हैं। Grilinctus Syrup की खुराक व्यक्ति की आयु, लिंग, वजन, शारीरिक स्थिति और मानसिक स्थिति पर निर्भर करती हैं।
  • एक सामान्य आयु वाले वयस्क व्यक्ति के लिए इसकी खुराक दिन में 2 से 3 भागों में विभाजित की गई हैं। जिसकी अधिकतम प्रतिदिन खुराक सीमा 5-10ml निर्धारित हैं। हर खुराक के बीच कम से कम 4-6 घण्टों का अंतराल होना चाहिए।
  • छोटी उम्र के बच्चों के लिए लगभग 2 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए इसका सेवन पूर्णतया बाल रोग विशेषज्ञ की निगरानी में होना चाहिए।
  • खुराक में किसी भी तरह का बदलाव करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लेनी चाहिए।
  • इसका सेवन करने से पहले बोटल को अच्छे से हिला लेना चाहिए

छूटी खुराक:

Grilinctus Syrup की खुराक का समय छूट जाये, तो जल्द से जल्द निर्धारित खुराक ले। अगर Grilinctus Syrup की अगली खुराक का समय निकट हो, तो छूटी खुराक ना ले।

ओवेरडोज़:

Grilinctus Syrup के ओवेरडोज़ व ज्यादा सेवन कर लेने से दुष्प्रभाव की संभावना बढ़ती है। ऐसे मे जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करे।

पढ़िये:

Grilinctus Syrup Precautions in Hindi – ग्रीलिंक्टस सिरप से सावधानिया

इसकी भारी खुराक या अनावश्यक खुराक लेने से शरीर पर बुरा प्रभाव पड़ता हैं। इसलिए हर तरह की खुराक लेने से पहले इसकी सावधानियों के बारे में पता होना चाहिए।

Food Interaction (खाद्य सहभागिता)

किसी भी विशेष खाद्य पदार्थ के सेवन से बचना नहीं चाहिए। लेकिन Grilinctus Syrup के सेवन मे डॉक्टर द्वारा दी खाने मे परहेज का पालन करना चाहिए। वही शराब (Alcohol) के सेवन से पूरी तरह से बचे।

When To Avoid (कब इसका सेवन ना करे)

अगर कोई निम्न विकारो व अवस्था मे हो, तो Grilinctus Syrup के उपयोग से बचना चाहिए। क्योकि ऐसे मे दुष्प्रभाव का खतरा बढ़ता है। जरूरत होने पर डॉक्टर को अपनी अवस्था बताकर ही Grilinctus Syrup की खुराक ले।

  • गर्भावस्था
  • Kidney Diseases (गुर्दे की बीमारियां)
  • सांस लेने में दिक्कत
  • Liver diseases (लिवर से जुड़े विकार मे)
  • Hypersensitivity (अतिसंवेदनशील)

Medicine Interaction (अन्य दवाओ से प्रतिक्रिया)

कुछ ऐसी दवाइयां हैं जिनके घटक Grilinctus Syrup के साथ आपसी प्रतिक्रिया कर सकते हैं। इस तरह की दवाइयां निम्नलिखित हैं-

  • Antidepressants
  • Cold and Cough medicines
  • Sedative
  • Quinidine

Grilinctus Syrup FAQ in Hindi

1) क्या Grilinctus Syrup के प्रभावी घटक शरीर में आसानी से घुलमिल जाते हैं?

उत्तर: Grilinctus Syrup के प्रभावी घटकों को पूरी तरह से अवशोषित और घुलमिल जाने के बाद ही कफ के लिए जिम्मेदार Recepters को Block कर लिया जाता हैं।

2) क्या Grilinctus Syrup गर्भवती महिलाओं के लिए सुरक्षित हैं?

उत्तर: गर्भवती महिलाओं को किसी भी तरह का कदम उठाने से पहले शिशु के बारे में ध्यान कर लेना चाहिए। इस स्थिति में Grilinctus Syrup के सेवन से दूरी बनानी चाहिए, क्योंकि यह माँ और शिशु दोनों के स्वास्थ्य को बिगाड़ने के लिए जिम्मेदार हो सकता हैं। ज्यादा आवश्यक होने पर इस विषय में चिकित्सक की पूरी सलाह लेनी चाहिए।

3) क्या Grilinctus Syrup की खुराक लेने के बाद गाड़ी चलाना सुरक्षित हैं?

उत्तर: “दुर्घटना से देर भली” इस लाइन को ध्यान में रख कर इसके सेवन के बाद पूरी तरह से आराम करना चाहिए। क्योंकि इससे उनींदापन और सुस्ती का अहसास हो सकता हैं।

4) क्या Grilinctus Syrup शरीर से सामान्य सर्दी को मिटाने के लिए शारीरिक तापमान में बदलाव करती हैं?

उत्तर: यह पूरी तरह से व्यक्ति की शारीरिक स्थिति पर निर्भर करता हैं क्योंकि इसका सेवन करते समय मरीज किसी अन्य दूसरे लक्षणों से पीड़ित तो नहीं हैं। जैसे- बुखार, हार्मोन असंतुलन आदि।

5) क्या Grilinctus Syrup को खाली पेट लिया जा सकता हैं?

उत्तर: इसका सेवन करने से पहले बोतल को हिला लेना चाहिए। इसको भोजन के बाद या पहले कभी भी ले सकते हैं लेकिन दिन में इसको लेने का समय फिक्स होना चाहिए।

6) क्या Grilinctus Syrup के उपयोग से दस्त या निर्जलीकरण जैसे लक्षण हो सकता है?

उत्तर: हालांकि कुछ मामलों में सामना आया हैं, कि इसके सेवन से दस्त या निर्जलीकरण जैसे लक्षणों से सामना हो सकता हैं। लेकिन इसमें घबराने की बात नहीं हैं क्योंकि ऐसे समय में ज्यादा पानी पीने की सलाह दी जाती हैं, जिससे इन लक्षणों से निजात मिल जाता हैं। ज्यादा परिणाम दिखने पर खुराक रोककर जल्दी से डॉक्टरी सलाह लेनी चाहिए।

7) क्या Grilinctus Syrup भारत में Legal (संवैधानिक) हैं?

उत्तर: हाँ, Grilinctus Syrup भारत में पूरी तरह से Legal हैं।

8) क्या Grilinctus Syrup मासिक धर्म चक्र को प्रभावित करती हैं?

उत्तर: यह दवा मासिक धर्म चक्र को प्रभावित नहीं करती हैं। क्योंकि यह पूरी तरह से खाँसी की समस्या को दूर करती हैं। अगर कुछ विपरीत लक्षण दिखते हैं। तो अपने निजी मासिक धर्म से जुड़े डॉक्टर की सलाह अवशय ले।

9) क्या Grilinctus Syrup का इस्तेमाल बच्चों में सुरक्षित हैं?

उत्तर: सही उम्र के बच्चों के लिए सही खुराक का सेवन सुरक्षित हैं। बच्चों में खुराक देने से पहले बाल रोग विशेषज्ञ का परामर्श लेना आवश्यक हैं।

10) क्या Grilinctus Syrup का निरंतर सेवन करने से इसकी आदत लगती हैं?

उत्तर: चूँकि यह दवा एलोपैथिक विधि से निर्मित हैं। इसलिए इसका निरंतर सेवन नर्वस सिस्टम के लिए हानिकारक हैं और इसकी गंदी लग सकती हैं। इसलिए इस दवा का उपयोग कम समय के लिए ही उचित हैं।

11) क्या Grilinctus Syrup गले की मांसपेशियों पर किसी भी तरह का दवाब पैदा करती हैं?

उत्तर: चूँकि Grilinctus Syrup की प्रत्येक खुराक से गले की मांसपेशियों में बलगम से छुटकारा मिल कर राहत मिलती हैं। जो विचलित मांसपेशियों को शिथिलता प्रदान करती हैं। इसलिए यह किसी भी प्रकार का दबाव पैदा नहीं करती हैं।

12) Grilinctus Syrup के ओवरडोज़ के मामलें में कौनसी संभावित कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता हैं?

उत्तर: इस स्थिति में शरीर को इसका भारी नुकसान उठाना पड़ सकता हैं, क्योंकि यह लाभकारी के साथ-साथ ज्यादा खतरनाक भी हैं। ओवरडोज़ के मामलों में दम घुटना, गले में दबाव महसूस करना, चक्कर, उल्टी, मुँह से झाग निकलना, मूर्छित होना, पेट में भारी दर्द होना आदि सभी लक्षणों ने सामना हो सकता हैं इसलिए सतर्क रहें और डॉक्टरी सलाह ले कर सुरक्षित रहें।

Grilinctus Syrup Price & Variant – कीमत व वेरिएंट

Grilinctus Syrup के मार्केट मे अन्य Variant/प्रकार मे भी मौजूद है। लेकिन ध्यान अन्य वेरिएंट का प्रयोग करने से पहले डॉक्टर की सलाह ले।

Grilinctus Syrup के वेरिएंट व उनकी कीमत निम्नलिखित है।

वेरिएंट मात्रा कीमत
Grilinctus Syrup 100 ml 104.63 Rs
Grilinctus Bm Syrup 100 ml 87.97 Rs
Grilinctus Ls Syrup 100 ml 95.23 Rs
Grilinctus Dx Syrup 100 ml 86.80 Rs
Grilinctus Bm Pead 1.5/4 Mg Syrup 30 ml 39.84 Rs
Grilinctus Paediatric 125/2.5/1 Mg Syrup 60 ml 55.90 Rs
Grilinctus Bm Sugar Free Syrup 100 ml 87.75 Rs
Grilinctus Bm Tablet 10 tablet 15 Rs

पढ़िये:

Grilinctus Syrup Substitute – ग्रीलिंक्टस सिरप के विकल्प

निम्न Grilinctus Syrup के Substitute/विकल्प है। जिसका इस्तेमाल Grilinctus Syrup की जगह किया जा सकता है।

लेकिन ध्यान रहे, इनके उपयोग से पहले डॉक्टर की सलाह लेना जरूरी है।

  • Brutus Syrup by – by MDC Pharmaceuticals
  • Lastuss D Syrup – by FDC Ltd.
  • Respira D Syrup – by Geno Pharmaceuticals Ltd.
  • Airlintus Syrup – by Alred Healthcare.
  • CRF- D Syrup – by Athens Labs Ltd.
  • Honeysip Suspension – by McW Healthcare)
  • Altime Cf Syrup – by S H Pharmaceuticals Ltd.
  • Gold Cough syrup – by Shatayushi healthcare.
  • Noxcold DX Syrup – by Emenox Healthcare
  • DM Syrup – by Mars Chemicals Ltd.
  • Xitol D Syrup – by Eisen Pharmaceutical Co Pvt Ltd
  • Oritus – by Orn Remedies

निष्कर्ष

हमे उम्मीद है, कि यह लेख “Grilinctus Syrup in Hindi | नुक्सान, उपयोग, खुराक, कीमत” आपके लिए मददगार होगा।

इसके साथ आपको Grilinctus Syrup in Hindi, ग्रीलिंक्टस सिरप के उपयोग, प्रयोग, फ़ायदे, नुक्सान, दुष्प्रभाव, Side Effects, ख़ुराक, कब ले, कैसे ले, कितना ले, कीमत की पूरी जानकारी मिल गयी होगी। अगर आपका कोई सुझाव या सवाल है, तो कमेंट कर सकते है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *